बुधवार, 4 जनवरी 2012

शहीद की बेटियों पर फिर हमला



मेरठ: देश की सुरक्षा की खातिर पिता देशपाल तोमर अनंतनाग में शहीद हो गए। कुछ वर्षो बाद संपत्ति विवाद में मां बबिता की हत्या हुई। कच्ची उम्र में ही एक के बाद एक आघात झेलकर दो बहनें आरती व प्रिया जीवन में सफलता की सीढ़ी चढ़ रही हैं, लेकिन समाज के चंद लोगों को अब यह भी मंजूर नहीं। हाल ही में इन दोनों बहनों पर हमला हुआ और उन्हें खींचने की कोशिश की गई। इस मामले की शिकायत मेरठ में डीआइजी से की गई है। उन्होंने दोनों बहनों को पूरी तरह से सुरक्षा का भरोसा दिलाया है।
पहले सिर से उठा पिता का साया, बाद में छिना मां का आंचल
बात शहीद देशपाल सिंह तोमर की बेटियां आरती (16) और प्रिया (13) की है। शौर्य चक्र विजेता की संपत्ति के विवाद में वर्ष 2009 में शहीद की पत्‍‌नी बबिता की श्रद्धापुरी में अपने ही मकान पर हत्या कर दी गई थी। हत्या का आरोप देशपाल के भाई संजय तोमर पर है। दोनों बहनें उस घटना की चश्मदीद हैं। मां की मृत्यु के बाद से अब इनकी देखरेख मामा ही करते हैं।
सुनसान रास्ते में हुई वारदात
छुट्टी पर पिछले दिनों आरती-प्रिया आयीं तो इनके दादा व अन्य रिश्तेदारों ने केस के मामले में दबाव बनाने की खातिर बात करने की शर्त रखी। इसके लिए एक छोटी सी पंचायत मामा के गांव शामली के समीप ऊन में रखी गई। 27 दिसंबर को बहनें अपने मामा के बेटे अनुज के साथ गांव पहुंचीं। इनका आरोप है कि उनके दादा व अन्य रिश्तेदारों ने मां की हत्या के मामले को वापस लेने का इन पर दबाव बनाया, लेकिन ये नहीं मानीं।
गांव में तीन दिन गुजारने के बाद 31 दिसंबर, 2011 को जब अनुज दोनों बहनों को लेकर बस से मेरठ की ओर आ रहा था, तो बस में पहले से ही सवार दो लोगों ने कुर्थल और सरोहा चौकी के पास सुनसान जगह पर बस रुकवा दी। बस रुकते ही कुछ लोग अंदर चढ़ गए और हॉकी से उन्होंने तीनों पर हमला बोल दिया और लड़कियों को नीचे खींचने लगे। दूसरे मुसाफिरों को कुछ नहीं बोला। बस चालक ने सूझबूझ दिखाई और बस भगाने लगा। इस दौरान सभी हमलावर एक-एक कर बस से उतर भागे। बस को सरोहा चौकी पर रोका गया, यहां मामले की शिकायत की गई। अनुज को आंख के नीचे और दोनों बहनों को हाथ पर चोट आयी है।
जीओसी से भी मांगेंगे मदद
इस घटना के बाद से दोनों बहनें और उनके मामा का परिवार आतंकित है। बहनों का कहना है कि वे जल्द ही जीओसी मेजर जनरल आरएन सिंह से भी मिलेंगी और पूरी घटना से उन्हें अवगत कराएंगी



- साभार देनिक जागरण

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें